Shore Maheeno sun kar Lyrics || Maahe Ramzaan aaya || Owais Raza Qadri || Roman(Eng) & हिंदी


Roman (Eng) :


Maahe Ramzaan aaya Maahe Ramzaan aaya 
Maahe Ramzaan aaya Maahe Ramzaan aaya 

Shore Maheeno sun kar , Tuj tak mein dawaan aaya
Saaqee Mein Tere Sadqe mein de Ramzaan aaya

Maahe Ramzaan aaya Maahe Ramzaan aaya 
Maahe Ramzaan aaya Maahe Ramzaan aaya 

Jab baame Tajalli par , Wo Nayyare Jaan aaya
Sar tha jo gira jhuk kar , Dil tha jo tapaan aaya

Saaqee Mein Tere Sadqe mein de Ramzaan aaya
Maahe Ramzaan aaya Maahe Ramzaan aaya 

Taybaa ke Siwaa sab baag Paamaale Fanaa honge
Dekhoge chaman waalon ! Jab Ahede Khazaan aaya

Saaqee Mein Tere Sadqe mein de Ramzaan aaya
Maahe Ramzaan aaya Maahe Ramzaan aaya 

Jannat ko Haram samjaa , aate to yahaan aaya
Ab tak ke Har ek ka Munh , Kehta hun kahaan aaya

Saaqee Mein Tere Sadqe mein de Ramzaan aaya
Maahe Ramzaan aaya Maahe Ramzaan aaya  

Sar aur Wo Sange Dar , Aankh aur Wo Bazme Noor
Zaalim ko Watan ka Dhyaan , aaya to kahaan aaya

Saaqee Mein Tere Sadqe mein de Ramzaan aaya
Maahe Ramzaan aaya Maahe Ramzaan aaya 

Kuchh Naat ke Tabqe ka Aalam hi niraala hai
Saqte mein padi hai Aqal , Chakkar mein gumaan aaya

Saaqee Mein Tere Sadqe mein de Ramzaan aaya
Maahe Ramzaan aaya Maahe Ramzaan aaya 

Le Tauqe Alam se ab Aazaad ho Aye Qumri
Chitthi liye bakhshish ki , Wo Sarwe Rawaan aaya

Saaqee Mein Tere Sadqe mein de Ramzaan aaya
Maahe Ramzaan aaya Maahe Ramzaan aaya 

Taybaa se Ham aate hein , Kahiye to Jina waalon
Kya dekh ke jeeta hai , Jo wahaan se yahaan aaya

Saaqee Mein Tere Sadqe mein de Ramzaan aaya
Maahe Ramzaan aaya Maahe Ramzaan aaya 

Namaa se Raza ke ab , mit jaao bure Kaamon
Dekho Mere Palle par , Wo Acchhe Miyaan aaya

Saaqee Mein Tere Sadqe mein de Ramzaan aaya
Maahe Ramzaan aaya Maahe Ramzaan aaya 


हिंदी :


माहे रमज़ां आया माहे रमज़ां आया
माहे रमज़ां आया माहे रमज़ां आया


शोरे महीनो सुन कर तुज तक में दवां आया
साक़ी में तेरे सदक़े में दे रमज़ां आया

माहे रमज़ां आया माहे रमज़ां आया
माहे रमज़ां आया माहे रमज़ां आया


जब बांमें तजल्ली पर , वो नय्यरे जान आया
सर था जो गिरा जुक कर , दिल था जो तपाँ आया

साक़ी में तेरे सदक़े में दे रमज़ां आया
माहे रमज़ां आया माहे रमज़ां आया


तयबाह के सिवा सब बाग़ पामाल फना होंगे
देखोगे चमन वालों ! जब अहदे ख़ज़ाँ आया

साक़ी में तेरे सदक़े में दे रमज़ां आया
माहे रमज़ां आया माहे रमज़ां आया

जन्नत को हरम समजा आते तो यहां आया
अब तक के हर एक का मुंह , कहता हूँ कहाँ आया

साक़ी में तेरे सदक़े में दे रमज़ां आया
माहे रमज़ां आया माहे रमज़ां आया

सर और वो संगे दर , आँख और वो बज़्मे नूर
ज़ालिम को वतन का ध्यान , आया तो कहाँ आया

साक़ी में तेरे सदक़े में दे रमज़ां आया
माहे रमज़ां आया माहे रमज़ां आया

कुछ नात के तबके का आलम ही निराला है
सकते में पड़ी है अक़्ल , चक्कर में गुमां आया

साक़ी में तेरे सदक़े में दे रमज़ां आया
माहे रमज़ां आया माहे रमज़ां आया

ले तौके अलम से अब आज़ाद हो अये क़ुमरी
चिट्ठी लिए बख्शीश की वो सर्वे रवां आया

साक़ी में तेरे सदक़े में दे रमज़ां आया
माहे रमज़ां आया माहे रमज़ां आया

तयबाह से हम आते हैं कहिये तो जीना वालों
क्या देख के जीता है , जो वां से यहां आया

साक़ी में तेरे सदक़े में दे रमज़ां आया
माहे रमज़ां आया माहे रमज़ां आया

नामा से राजा के अब मिट जाओ बुरे कामों
देखो मेरे पल्ले पर वो अच्छे मियाँ आया

साक़ी में तेरे सदक़े में दे रमज़ां आया
माहे रमज़ां आया माहे रमज़ां आया

Comments

Facebook Page

Followers

Popular Naat Lyrics

Wo jiske liye Mehfile Konain saji hai Lyrics || Roman(Eng) and Hindi(हिंदी)

Shahe Do Aalam Salaam Assalaam Lyrics || Roman(Eng) & हिंदी (Hindi)

Allahumma Salle Ala Sayyidina Wa Maulana Muhammadin Lyrics || Roman (Eng) & हिंदी (Hindi)