Jab Tak Jiyun Mein Aaqa Koi Gam na paas aaye Lyrics || Owais Raza Qadri


Roman(ENG):


Jab Tak Jiyun Mein Aaqa Koi Gam na paas aaye
Jo Marun to ho lahad par Teri Rehmaton ke Saaye

Hein Khiza ne daale dere Murja gaye hein Sab gul
Mere Ujde baag mein fir Aaqa bahaar aaye

Meri Zindagi ka Maqsad , Ho Aye Kaash Ishke Ahmed
Muje Maut bhi jo aaye , Isi justaju mein aaye

Muje Maut Zindagi de , Muje Zindagi Maza de
Jo Kitaabe Zindagi par,  Mohar Apni Wo lagaye

Tu basa de Mere Dil mein Haan ! Usi ki yaad Maalik
Wo Jo Wakte Naz'aa aa kar Kalma bhi yaad dilaaye

Na to kar saka hai koi, Na karega pyaar aesa
Jo lahad mein Aashikon ko deke thapkiyan sulaaye

Wo Diya jo bujh gaya tha, Wo jo kho gayi thi soozan
Hua har taraf ujaala Jo Huzur Muskuraye

Chali aandhiyaan gamon ki, Giri Bijliyaan dukhon ki
Ye Tera Karam hai Aaqa ke Kadam na ladkhadaaye

Jise Mara ho gamon ne, Jise Gera ho dukhon ne
Mera Mashwara hai Usko Wo Madina hoke aaye

Dare Yaar par pada hun Is usool par gira hun
Jo gira hua ho khud hi Use Kaun ab giraaye

Mein Gulaame Panjatan hun, Besahara na samajna
Mein hun Gaus ka Diwaana Koi hath to lagaye

Yehi Aarzu Dili hai Teri Bazm par kisi Din
Ye Tera Ubaid aaye Tuje Naat bhi Sunaye





हिंदी (HINDI):


जब तक जियूं में आक़ा कोई गम न पास आये
जो मरुँ तो हो लहद पर तेरी रहमतों के साये

हैं खिज़ा ने डाले डेरे, मुर्जा गए हैं सब गुल
मेरे उजड़े बाग़ में फिर आक़ा बहार आये

मेरी ज़िन्दगी का मक़सद , हो अये काश इश्के अहमद
मुझे मौत भी जो आये , इसी जुस्तजू में आये

मुझे मौत ज़िन्दगी दे, मुझे ज़िन्दगी मजा दे
जो किताबे ज़िन्दगी पर , मोहर अपनी वो लगाए

तु बसा दे मेरे दिल में हाँ ! उसी की याद मालिक
वो जो वक़्ते नज़अ आ कर, कलमा भी याद दिलाये

न तो कर सका है कोई , न करेगा प्यार ऐसा
जो लहद में आशिकों को देके थपकियाँ सुलाए

वो दिया जो बुज गया था , वो जो खो गयी थी सूजन
हुआ हर तरफ उजाला , जो हुज़ूर मुस्कुराए

चली आंधियां ग़मों की , गिरी बिजलियाँ दुखों की
ये तेरा करम है आक़ा के क़दम न लड़खड़ाए

जिसे मारा हो ग़मों ने, जिसे गेरा हो दुखों ने
मेरा मश्वरा है उसको , वो मदीना होक आये

दरे यार पर पड़ा हूँ, इस उसूल पर गिरा हूँ
जो गिरा हुआ हो खुद ही , उसे कौन अब गिराए

में गुलामे पंजतन हूँ , बेसहारा न समझना
में हूँ गॉस का दीवाना , कोई हाथ न लगाए

यही आरज़ू दिली है, तेरे बज़्म पर किसी दिन
ये तेरा उबैद आये , तुजे नात भी सुनाए

Comments

Post a Comment

Popular Naat Lyrics

Humne Aankhon se dekha nahi hai Magar || Lyrics || Wo Muhammad Madine mein Maujud hai || हमने आँखों से देखा नहीं है मगर || ENG HINDI URDU

Allah humma Sallay Ala Sayyidina Wa Maulana Muhammadin Lyrics || अल्लाहुम्म सल्ली अला सैय्यिदिना व मौलाना मुहम्मदिन || ENG HINDI URDU

Fazle Rabbe paak se beta mera dulha bana || Madani Sehra || Lyrics || फ़ज़्ले रब्बे पाक से बेटा मेरा दूल्हा बना || मदनी सेहरा || Haifz Tahir Qadri

Wo Jiske liye Mehfile Konain saji hai || Wo Mera Nabi hai Lyrics || वो जिसके लिए महफिले कोनैन सजी है || वो मेरा नबी है || وو جسکے لئے محفل کَونَیْن سجی ہے || Lyrics

Shahe Do Alam Salam Assalam || शाहे दो आलम सलाम अस्सलाम || شاہِ دو عالم سلام اَلسَّلام || Lyrics || Roman(Eng) & हिंदी (Hindi)

Bulalo Sarkar Tum Apne Dar Par || Salam Lyrics || बुलालो सरकार तुम अपने दर पर

Tumne Shahe Jeelaan Muje Bagdaad bulaya Lyrics || तुमने शाहे जिलान मुझे बग़दाद बुलाया || Owais Raza Qadri

Madine ke Aaqa Salamun Alaik Lyrics || मदीने के आक़ा , सलामुन अलैक

Aye Khatme Rasool Makki Madani || अये खत्मे रसूल मक्की मदनी || Lyrics || Hafiz Uzair Akhtari

Apne Malik ka Main Naam lekar Lyrics || अपने मालिक का में नाम लेकर || Roman(Eng) & हिंदी(Hindi) & اردو(Urdu)

Facebook Page