Nabi ka Zikr hi Khuda ka Zikr hai || नबी का ज़िक्र ही खुदा का ज़िक्र है || Lyrics || Hafiz Tahir Qadri || Roman(ENG) & हिंदी (HINDI)

  

Roman(ENG):


Nabi ka Zikr hi Khuda ka Zikr hai
Nabi ki Baat hi Khuda ki Baat hai
Yadullah keh diya to saabit ho gaya
Nabi ka Haath hi Khuda ka Haath hai

Nabi ka Zikr hi Khuda ka Zikr hai
Nabi ki Baat hi Khuda ki Baat hai

Nabi ka Lab par Jo Zikr hai bemisaal aaya Kamaal aaya
Jo Hijre Taybaah mein yaad ban kar, khayaal aaya Kamaal aaya

Teri Duaaon hi ki badolat, Azaabe Rabb se bache hue hein
Jo haq mein ummat ke Tere Lab par Sawaal aaya Kamaal aaya

Kausar bhi Inhin ki hai , Jannat bhi Inhin ki hai
Sach Puchho to Allah ki , Har Cheez Inhin ki hai

Na Ban saki hai Na ban sakega misaal Teri Jawaab Tera

Tu Shaahe Khubaan, Tu Jaane Jaanaan
Hai Chehra Ummul Kitaab Tera

Tu Sabse Awwal Tu Sabse Aakhir
Mila hai Husne Dawaam Tujko
Hai Umr Lakhon Baras ki Teri
Magar hai Taaza Shabaab Tera

Apni Rehmat ke Samandar mein Utar jaane de
Bethikaana hun ajal se , Muje Ghar jaane de

Maut par Meri Shaheedon ko bhi rashk aayega
Apne Qadmon se lipat kar Muje Mar jaane de

Kausar bhi Inhin ki hai , Jannat bhi Inhin ki hai





हिंदी (HINDI):



नबी का ज़िक्र ही खुदा का ज़िक्र है
नबी की बात ही खुदा की बात है
यदुल्लाह कह दिया तो साबित हो गया
नबी का हाथ ही खुदा का हाथ है

नबी का ज़िक्र ही खुदा का ज़िक्र है
नबी की बात ही खुदा की बात है

नबी का लब पर जो ज़िक्र है बेमिसाल आया कमाल आया
जो हिज्रे तयबाह में याद बन कर, ख़याल आया कमाल आया

तेरी दुआओं ही की बदौलत, अज़ाबे रब्ब से बचे हुए हैं
जो हक़ में उम्मत के तेरे लब पर सवाल आया कमाल आया

कौसर भी इन्हीं की है, जन्नत भी इन्हीं की है
सच पूछो तो अल्लाह की हर चीज़ इन्हीं की है

न बन सकी है न बन सकेगा मिसाल तेरी जवाब तेरा

तू शाहे ख़ुबाँ, तू जाने जानां
है चेहरा उम्मुल किताब तेरा

तू सबसे अव्वल तू सबसे आखिर
मिला है हुस्ने दवाम तुझको
है उम्र लाखों बरस की तेरी
मगर है ताज़ा शबाब तेरा

अपनी रेहमत के समंदर में उतर जाने दे
बेठिकाना हूँ अजल से , मुझे घर जाने दे

मौत पर मेरी शहीदों की भी रश्क आएगा
अपने क़दमों से लिपट कर मुझे मर जाने दे

कौसर भी इन्हीं की है, जन्नत भी इन्हीं की है






Naat Khwan : 

Hafiz Tahir Qadri

More Miladunnabi Naat Lyrics:

Click For More Miladunnbi Naats

Comments

Popular Naat Lyrics

Humne Aankhon se dekha nahi hai Magar || Lyrics || Wo Muhammad Madine mein Maujud hai || हमने आँखों से देखा नहीं है मगर || ENG HINDI URDU

Allah humma Sallay Ala Sayyidina Wa Maulana Muhammadin Lyrics || अल्लाहुम्म सल्ली अला सैय्यिदिना व मौलाना मुहम्मदिन || ENG HINDI URDU

Wo Jiske liye Mehfile Konain saji hai || Wo Mera Nabi hai Lyrics || वो जिसके लिए महफिले कोनैन सजी है || वो मेरा नबी है || وو جسکے لئے محفل کَونَیْن سجی ہے || Lyrics

Fazle Rabbe paak se beta mera dulha bana || Madani Sehra || Lyrics || फ़ज़्ले रब्बे पाक से बेटा मेरा दूल्हा बना || मदनी सेहरा || Haifz Tahir Qadri

Shahe Do Alam Salam Assalam || शाहे दो आलम सलाम अस्सलाम || Lyrics || Roman(Eng) & हिंदी (Hindi)

Tumne Shahe Jeelaan Muje Bagdaad bulaya Lyrics || तुमने शाहे जिलान मुझे बग़दाद बुलाया || Owais Raza Qadri

Bulalo Sarkar Tum Apne Dar Par || Salam Lyrics || बुलालो सरकार तुम अपने दर पर

Aye Khatme Rasool Makki Madani || अये खत्मे रसूल मक्की मदनी || Lyrics || Hafiz Uzair Akhtari

Madine ke Aaqa Salamun Alaik Lyrics || मदीने के आक़ा , सलामुन अलैक

Peerane peer mere shahe jilani Lyrics || पीराने पीर मेरे शाहे जिलानी

Facebook Page