Gali Gali Saj gayi Shaher Shaher Saj gaya || गली गली सज गयी, शहर शहर सज गया || Lyrics || Haifz Tahir Qadri


Roman(Eng):


Gali Gali Saj Gayi, Shehar Shehar Saj gaya
Aaye Nabi Pyare Nabi, Mera bhi Ghar Saj gaya

Marhaba Ya Mustafa Marhaba Ya Mustafa

Mustafa se Pyar hai Dil se Ye Ikrar hai
Har koi Milade Nabi karne ko Tayyar hai

Marhaba Ya Mustafa Marhaba Ya Mustafa

Duniya mein Jahan bhi rahein Aabad rahenge
Jo Aamena ke Laal ka Milad karenge

Jande lagao Khushiyan manao
Karke Charagan Khushiyan manao

Aashiq ne Madani Lighton se Ghar Jagmaga diya
Ye Jashn Zaroori hai Sabhi ko bata diya
Munkir Ye Tera Bugz hai Milade Nabi se
Jo Sara Saal Jalta tha Wo bhi buja diya

Milad pe Charagaan na sahi 
Jo Bulb sara Saal Jalta tha Wo bhi buja diy

Gali Gali Saj Gayi Shehar Shehar Saj gaya
Aaye Nabi Pyare Nabi Mera bhi Ghar Saj gaya

Duniya mein Jahan bhi rahein Aabad rahenge
Jo Aamena ke Laal ka Milad karenge

Sarkar ke Milad pe Kyun Aetraz hai
Ye Baat Khushi ki hai Aur Tu Naraz hai
Lagta hai Teri Daal mein Kala Zarur hai
Milad manane pe Hamein Dil se Naaz hai

Duniya mein Jahan bhi rahein Aabad rahenge
Jo Aamena ke Laal ka Milad karenge

Quraan ke bataye huye raste pe rahenge
As-habe Muhammad ke Tareeke pe chalenge
Mumkin hi nahin kam ho kabhi Pyar ke Jazbe
Milade Nabi Pehle se bhi zyaada karenge

Duniya mein Jahan bhi rahein Aabad rahenge
Jo Aamena ke Laal ka Milad karenge

Shane Rasoole Paak Sunate hi rehenge
Lab par Duroode Paak Sajate hi rahenge
Jo Maante nahin hein Hamein Unse Garz Kya
Ham Log to Milad Manate hi rahenge

Gali Gali Saj Gayi Shehar Shehar Saj gaya
Aaye Nabi Pyare Nabi Mera bhi Ghar Saj gaya

Duniya mein Jahan bhi rahein Aabad rahenge
Jo Aamena ke Laal ka Milad karenge

Ye bigde huye log sudhar Kyun nahin jate
Usshaq Samandar mein utar kyun nahin jate
Gustakhon ki karte hein yahan Jo bhi Himayat
Sarkar ke Gaddar hein Ye mar kyun nahin jate

Duniya mein Jahan bhi rahein Aabad rahenge
Jo Aamena ke Laal ka Milad karenge

Khud Apne hi Hathon se yun Taqdeer jagalo
Halaat sanwar jayenge Jhandon ko uthalo
Imaan hai Aur Khair hai Milad Ujagar
Kyun baithe ho Sarkar ka Milad manalo

Gali Gali Saj Gayi Shehar Shehar Saj gaya
Aaye Nabi Pyare Nabi Mera bhi Ghar Saj gaya

Marhaba Ya Mustafa Marhaba Ya Mustafa

Mustafa se Pyar hai Dil se Ye Ikrar hai
Har koi Milade Nabi karne ko Tayyar hai

Duniya mein Jahan bhi rahein Aabad rahenge
Jo Aamena ke Laal ka Milad karenge



हिंदी(Hindi):


गली गली सज गयी, शहर शहर सज गया
आये नबी प्यारे नबी मेरा भी घर सज गया

मरहबा या मुस्तफा, मरहबा या मुस्तफा

मुस्तफा से प्यार है, दिल से ये इक़रार है
हर कोई मिलादे नबी करने को तैयार है

मरहबा या मुस्तफा, मरहबा या मुस्तफा

दुनिया में जहाँ भी रहे आबाद रहेंगे
जो आमेना के लाल का मिलाद करेंगे

जंडे लगाओ, खुशियां मनाओ
करके चरागाँ खुशियां मनाओ

आशिक़ ने मदनी लाइटों से घर जगमगा दिया
ये जश्न ज़रूरी है सभी बता दिया
मुनकिर ये तेरा बुग्ज़ है मिलादे नबी से
जो सारा साल जलता था वो भी बजा दिया

मिलाद पे चरागाँ न सही,
जो बल्ब सारा साल जलता था वो भी बजा दिया

गली गली सज गयी, शहर शहर सज गया
आये नबी प्यारे नबी मेरा भी घर सज गया

दुनिया में जहाँ भी रहे आबाद रहेंगे
जो आमेना के लाल का मिलाद करेंगे

सरकार के मिलाद पे क्यों ऐतेराज़ है
ये बात ख़ुशी की है और तु नाराज़ है
लगता है तेरी दाल में काला ज़रूर है
मिलाद मनाने पे हमें दिल से नाज़ है

दुनिया में जहाँ भी रहे आबाद रहेंगे
जो आमेना के लाल का मिलाद करेंगे

क़ुरआन के बताये हुए रस्ते पे रहेंगे
अस्हाबे मुहम्मद के तरीके पे चलेंगे
मुंकिन ही नहीं कम हो कभी प्यार के जज़्बे
मिलादे नबी पहले से भी ज़्यादा करेंगे

दुनिया में जहाँ भी रहे आबाद रहेंगे
जो आमेना के लाल का मिलाद करेंगे

शाने रसूले पाक सुनते ही रहेंगे
लब पर दुरूदे पाक सजाते ही रहेंगे
जो मानते नहीं हैं हमें उनसे गरज़ क्या
हम लोग तो मिलाद मानते ही रहेंगे

गली गली सज गयी, शहर शहर सज गया
आये नबी प्यारे नबी मेरा भी घर सज गया

दुनिया में जहाँ भी रहे आबाद रहेंगे
जो आमेना के लाल का मिलाद करेंगे

ये बिगड़े हुए लोग सुधर क्यों नहीं जाते
उश्शाक़ समंदर में उतर क्यों नहीं जाते
गुस्ताखों की करते हैं यहाँ जो भी हिमायत
सरकार के गद्दार हैं ये मर क्यों नहीं जाते

दुनिया में जहाँ भी रहे आबाद रहेंगे
जो आमेना के लाल का मिलाद करेंगे

खुद अपने ही हाथों से यूँ तक़दीर जगालो
हालात संवर जाएंगे जंडों को उठालो
ईमान है और खैर है मिलाद उजागर
क्यों बैठे हो सरकार का मिलाद मनालो

गली गली सज गयी, शहर शहर सज गया
आये नबी प्यारे नबी मेरा भी घर सज गया

मरहबा या मुस्तफा, मरहबा या मुस्तफा

मुस्तफा से प्यार है, दिल से ये इक़रार है
हर कोई मिलादे नबी करने को तैयार है

मरहबा या मुस्तफा, मरहबा या मुस्तफा

दुनिया में जहाँ भी रहे आबाद रहेंगे
जो आमेना के लाल का मिलाद करेंगे


 

Naat Khwan : 

Hafiz Tahir Qadri

Comments

Post a Comment

Popular Naat Lyrics

Humne Aankhon se dekha nahi hai Magar || Lyrics || Wo Muhammad Madine mein Maujud hai || हमने आँखों से देखा नहीं है मगर || ENG HINDI URDU

Allah humma Sallay Ala Sayyidina Wa Maulana Muhammadin Lyrics || अल्लाहुम्म सल्ली अला सैय्यिदिना व मौलाना मुहम्मदिन || ENG HINDI URDU

Fazle Rabbe paak se beta mera dulha bana || Madani Sehra || Lyrics || फ़ज़्ले रब्बे पाक से बेटा मेरा दूल्हा बना || मदनी सेहरा || Haifz Tahir Qadri

Wo Jiske liye Mehfile Konain saji hai || Wo Mera Nabi hai Lyrics || वो जिसके लिए महफिले कोनैन सजी है || वो मेरा नबी है || وو جسکے لئے محفل کَونَیْن سجی ہے || Lyrics

Shahe Do Alam Salam Assalam || शाहे दो आलम सलाम अस्सलाम || شاہِ دو عالم سلام اَلسَّلام || Lyrics || Roman(Eng) & हिंदी (Hindi)

Bulalo Sarkar Tum Apne Dar Par || Salam Lyrics || बुलालो सरकार तुम अपने दर पर

Tumne Shahe Jeelaan Muje Bagdaad bulaya Lyrics || तुमने शाहे जिलान मुझे बग़दाद बुलाया || Owais Raza Qadri

Madine ke Aaqa Salamun Alaik Lyrics || मदीने के आक़ा , सलामुन अलैक

Aye Khatme Rasool Makki Madani || अये खत्मे रसूल मक्की मदनी || Lyrics || Hafiz Uzair Akhtari

Apne Malik ka Main Naam lekar Lyrics || अपने मालिक का में नाम लेकर || Roman(Eng) & हिंदी(Hindi) & اردو(Urdu)

Facebook Page