Aa gayaa Ramzaan hai Kalaam lyrics || Ramzan Special || Bilaal Qadri || Roman(Eng) & हिंदी


Roman (Eng) :


Aa gayaa Ramzaan hai Aa gayaa Ramzaan hai
Aa gayaa Ramzaan hai Aa gayaa Ramzaan hai
 
Marhabaa sad Marhabaa fir Aa gayaa Ramzaan hai
Khil uthe murjaaye Dil Taaza hua Imaan hai
Aa gaya Ramzan hai Aa gaya Ramzan hai

Ya khuda Ham aasiyon par Ye badaa ahesaan hai
Zindagi main fir ataa Ham ko kiya Ramzaan hai
Aa gayaa Ramzaan hai Aa gayaa Ramzaan hai

Tujpe sadke jaaun Ramzaaz Tu Azimusshaan hai
Ke khuda ne Tujmein hi naazil kiya Quraan hai
Aa gayaa Ramzaan hai Aa gayaa Ramzaan hai

Abre Rehmat chhaa gayaa hai aur samaa hai Noor Noor
Fazle Rabb se magfirat ka ho gayaa saamaan hai
Har gadi Rehmat bhari hai har taraf hein Barkatein
Maahe Ramzaan Rahamton aur Barkaton ki kaan hai
Aa gayaa Ramzaan hai Aa gayaa Ramzaan hai

Aa gaya Ramzaan Ibaadat par kamar ab baandh lo
Faiz lelo jald ke Din Tees ka Mehmaan hai
Aasiyon ki magfirat ka lekar aaya hai payaam
Jum jaao mujrimon Ramzaan Maahe gufraan hai
Aa gayaa Ramzaan hai Aa gayaa Ramzaan hai

Bhaiyon Baheno karo sab nekiyon par nekiyaan
Pad gaye dozakh pe taale qaid mein Shaitaan hai
Bhaiyon Baheno gunahon se sabhi taubaa karo
Khuld ke Dar khul gaye hein daakhila aasan hai
Aa gayaa Ramzaan hai Aa gayaa Ramzaan hai

Kam hua Zohre Gunaah aur Masjidein aabad hein
Maahe Ramzaznul Mubarak ka ye sab faizaan hai
Rozaadaron joom jaao kyunke deedaare Khuda
Khuld main hoga Tumhein ye waada e Rahmaan hai
Aa gayaa Ramzaan hai Aa gayaa Ramzaan hai

Do Jahaan ki nematein milti hein Rozadaaron ko
Jo nahin rakhtaa hai rozaa wo bada naadaan hai
Ya Ilaahi Tu Madine mein kabhi Ramzaan dikhaa
Muddaton se Dil mein ye Attar ke armaan hein



हिंदी : 


आ गया रमजान है आ गया रमजान है
आ गया रमजान है आ गया रमजान है

मरहबा सद मरहबा फिर आ गया रमजान है
खिल उठे मुरझाये दिल ताज़ा हुआ ईमान है
आ गया रमजान है आ गया रमजान है

या खुदा हम आसियों पर ये बड़ा अहसान है
के खुदा ने तुझमें ही नाज़िल किया क़ुरआन है
आ गया रमजान है आ गया रमजान है

अब्रे रेहमत छा गया है और समा है नूर नूर
फैले रब्ब से मगफिरत का हो गया सामान है
हर गाड़ी रेहमत भरी है हर तरफ हैं बरकतें
माहे रमज़ां रहमतों और बरकतों की कान है
आ गया रमजान है आ गया रमजान है

आ गया रमज़ां इबादत पर कमर अब बांध लो
फैज़ ले लो जल्दी के दिन तीस का मेहमान है
आसियों की मगफिरत का ले कर आया है पयाम
झूम जाओ मुजरिमों रमज़ां माहे गुफरान है
आ गया रमजान है आ गया रमजान है

भाइयों बहनों करो सब नेकियों पर नेकियां
पड़ गए दोज़ख पे ताले क़ैद में शैतान है
भाइयों बहनों गुनाहों से सभी तौबा करो
खुल्द के दर खुल गए हैं दाखिला आसान है
आ गया रमजान है आ गया रमजान है

दो जहाँ की नेमतें मिलती हैं रोज़ादारों को
जो नहीं रखता है रोज़ा वो बड़ा नादान है
या इलाही तू मदीने में कभी रमज़ां दिखा
मुद्दतों से दिल में ये अत्तार के अरमान है
Aa gaya Ramzan hai Kalam lyrics ramzan, ramadan, ramadaan, ramzan 2022, ramzan 2021, ramdan 2022, ramadan 2021

Comments

  1. ماشاء اللہ۔۔۔۔۔
    جزاک اللہ خیرا کثیرا۔۔

    ReplyDelete
  2. MashaAllah jazak Allahu Khair

    ReplyDelete

Post a Comment

Facebook Page

Followers

Popular Naat Lyrics

Wo jiske liye Mehfile Konain saji hai Lyrics || Roman(Eng) and Hindi(हिंदी)

Shahe Do Aalam Salaam Assalaam Lyrics || Roman(Eng) & हिंदी (Hindi)

Allahumma Salle Ala Sayyidina Wa Maulana Muhammadin Lyrics || Roman (Eng) & हिंदी (Hindi)