Tere Sadqe mein Aaqa Sare jahan ko deen mila || तेरे सदक़े में आक़ा, सारे जहां को दीन मिला || Nisar Ahmad Marfani || Lyrics


Roman(ENG):


Tere Sadqe mein Aaqa Sare jahan ko deen mila
Be deenon ne kalma pada Lailaha Illalallah

Hasbi Rabbi Jallalallah Mafee Qalbi Gayrullah
Noore Muhammad Sallalallah Lailaha Illalallah

Simte Nabi Bu jahal gaya, Aaqa se usne ye kaha
Gar ho Nabi batlaao zara, Meri mutthi mein hai kya
Aaqa ka farmaan hua,Aur fazle Rehman hua
Mutthi se patthar bola Lailaha Illalallah

Hasbi Rabbi Jallalallah Mafee Qalbi Gayrullah
Noore Muhammad Sallalallah Lailaha Illalallah

Apni Bahen se bole Umar, Ye to bata kya karti thi
Mere aane se pahele, kya Chupke chupke padti thi
Bahen ne jab Quran pada, Sunke Qalaame Paake Khuda
Dil ye Umar ka bol utha Lailaha Illalallah

Hasbi Rabbi Jallalallah Mafee Qalbi Gayrullah
Noore Muhammad Sallalallah Lailaha Illalallah

Wo jo Bilaale Habshi hai Sarware Deen ka pyara hai
Duniya ke har Aashiq ki Aankhon ka wo Taara hai
Zulm huye kitne un par, Sine pe rakha patthar
Fir bhi lab pe jari tha Lailaha Illalallah

Hasbi Rabbi Jallalallah Mafee Qalbi Gayrullah
Noore Muhammad Sallalallah Lailaha Illalallah

Duniya ke Insaan sabhi Shirko Bid-at karte the
Rabb ke the bande firbhi But ki Ibadat karte the
But khaane hein tharraye Mere Nabi hein jab aaye
Kehne lagi Makhluke Khuda Lailaha Illalallah

Hasbi Rabbi Jallalallah Mafee Qalbi Gayrullah
Noore Muhammad Sallalallah Lailaha Illalallah

Gulshan Kalma padte hein, Chidiya Kalma padti hai
Duniya ki Makhluk sabhi, Zikr Khuda ka karti hai
Kehte sabhi hein Jinno Bashar, Kehta Shajar hai Kehta Hajar
Kehta hai Patta Patta Lailaha Illalallah

Hasbi Rabbi Jallalallah Mafee Qalbi Gayrullah
Noore Muhammad Sallalallah Lailaha Illalallah





हिंदी(HINDI):


तेरे सदक़े में आक़ा, सारे जहां को दीन मिला 
बेदीनों ने कलमा पड़ा, लाइलाहा इल्ललल्लाह 

हस्बी रब्बी जल्ललल्लाह, माफ़ी क़ल्बी गैरुल्लाह
नूरे मुहम्मद सल्लल्लाह, लाइलाहा इल्ललल्लाह 

सीमते नबी बु जहल गया, आक़ा से उसने ये कहा
गर हो नबी बतलाओ ज़रा, मेरी मुट्ठी में है क्या
आक़ा का फरमान हुआ, और फैले रहमान हुआ
मुट्ठी से पत्थर बोला, लाइलाहा इल्ललल्लाह 

हस्बी रब्बी जल्ललल्लाह, माफ़ी क़ल्बी गैरुल्लाह
नूरे मुहम्मद सल्लल्लाह, लाइलाहा इल्ललल्लाह 

अपनी बहन से बोले उमर, ये तो बता क्या करती थी
मेरे आने से पहले क्या चुपके चुपके पड़ती थी
बहन ने जब क़ुरआन पड़ा, सुन के कलामे पाके खुदा
दिल ये उमर का बोल उठा लाइलाहा इल्ललल्लाह 

हस्बी रब्बी जल्ललल्लाह, माफ़ी क़ल्बी गैरुल्लाह
नूरे मुहम्मद सल्लल्लाह, लाइलाहा इल्ललल्लाह 

वो जो बिलाल हब्शी है, सरवरे दीं का प्यारा है
दुनिया के हर आशिक़ की आँखों का वो तारा है
ज़ुल्म हुए कितने उन पर, सीने पर रक्खा पत्थर
फिर भी लब पे जारी था, लाइलाहा इल्ललल्लाह 

हस्बी रब्बी जल्ललल्लाह, माफ़ी क़ल्बी गैरुल्लाह
नूरे मुहम्मद सल्लल्लाह, लाइलाहा इल्ललल्लाह 

दुनिया के इंसान सभी, शिरको बिदअत करते थे
रब्ब के थे बन्दे फिर भी, बूत की इबादत करते थे
बूत खाने हैं थर्राये, मेरे नबी हैं जब आये
कहने लगी मखलूके खुदा, लाइलाहा इल्ललल्लाह 

हस्बी रब्बी जल्ललल्लाह, माफ़ी क़ल्बी गैरुल्लाह
नूरे मुहम्मद सल्लल्लाह, लाइलाहा इल्ललल्लाह 

गुलशन कलमा पड़ते हैं, चिड़िया कलमा पड़ती है
दुनिया की मखलूक सभी, ज़िक्र खुदा का करती है
कहते सभी हैं जिन्नो बशर, कहता शजर है कहता हजर
कहता है पत्ता पत्ता लाइलाहा इल्ललल्लाह 

हस्बी रब्बी जल्ललल्लाह, माफ़ी क़ल्बी गैरुल्लाह
नूरे मुहम्मद सल्लल्लाह, लाइलाहा इल्ललल्लाह 


Comments

Post a Comment

Popular Naat Lyrics

Humne Aankhon se dekha nahi hai Magar || Lyrics || Wo Muhammad Madine mein Maujud hai || हमने आँखों से देखा नहीं है मगर || ENG HINDI URDU

Wo Jiske liye Mehfile Konain saji hai || Wo Mera Nabi hai Lyrics || वो जिसके लिए महफिले कोनैन सजी है || वो मेरा नबी है || وو جسکے لئے محفل کَونَیْن سجی ہے || Lyrics

Allah humma Sallay Ala Sayyidina Wa Maulana Muhammadin Lyrics || अल्लाहुम्म सल्ली अला सैय्यिदिना व मौलाना मुहम्मदिन || ENG HINDI URDU

Fazle Rabbe paak se beta mera dulha bana || Madani Sehra || Lyrics || फ़ज़्ले रब्बे पाक से बेटा मेरा दूल्हा बना || मदनी सेहरा || Haifz Tahir Qadri

Shahe Do Alam Salam Assalam || शाहे दो आलम सलाम अस्सलाम || شاہِ دو عالم سلام اَلسَّلام || Lyrics || Roman(Eng) & हिंदी (Hindi)

Aye Khatme Rasool Makki Madani || अये खत्मे रसूल मक्की मदनी || Lyrics || Hafiz Uzair Akhtari

Madine ke Aaqa Salamun Alaik Lyrics || मदीने के आक़ा , सलामुन अलैक

Bulalo Sarkar Tum Apne Dar Par || Salam Lyrics || बुलालो सरकार तुम अपने दर पर

Apne Malik ka Main Naam lekar Lyrics || अपने मालिक का में नाम लेकर || Roman(Eng) & हिंदी(Hindi) & اردو(Urdu)

Bigdi ke banaane mein kyun dair lagi khwaaja Lyrics in roman(Eng) & Hindi(हिंदी)

Facebook Page