Arsh na kyun sajta Sarkar ne Aana tha || अर्श न क्यों सजता सरकार ने आना था || Lyrics || Sohail Farooki


Roman(ENG):


Jashn ka Manzar tha Mahol Suhana tha
Arsh na kyun sajta Sarkaar ne Aana tha

Farsh pe Nagme the Aaqa ki Risaalat ke
Arsh pe charche the Sarkaar ki Azmat ke
Hooron ke Lab par Khushiyon ka taraana tha
Arsh na kyun sajta Sarkar ne Aana tha

Roop badal jaaye Ye Raat sanwar jaye
Hukm Khuda ka hua ke Waqt thaher jaye
Ruk gaya Foran jo Gardish mein zamaana tha
Arsh na kyun sajta Sarkar ne Aana tha

Masjide Aqsa mein kya Manzar the Pyaare
Bich Kataaron mein Haazir the Nabi Saare
Aage Musalle par Sultaane Zamaana tha
Arsh na kyun sajta Sarkar ne Aana tha

Arsh saja Sarkaar ke liye Arsh saja Sarkaar ke liye
Manzil-e-Sidra par Jibreel ne arz kiya
Shahe Do Aalam Mein aage nahin chal sakta
Meri had ye hi thi Yehi Mera thikaana tha
Arsh na kyun sajta Sarkar ne Aana tha

Ek wasila hai Rabb se mulaakaton ka
Aap ko Haq ne diya tohfa jo Namaazon ka
Asal mein Ummat ki bakhshish ka bahaana tha
Arsh na kyun sajta Sarkar ne Aana tha

Noor mein Farooki duba ye Jahaan hoga
Waqt wo kya hoga kaisa wo samaan hoga
Masnade Arsh pe Jab Hasanain ka Naana tha
Arsh na kyun sajta Sarkar ne Aana tha








हिंदी (HINDI):


जश्न का मंज़र था , माहौल सुहाना था
अर्श न क्यों सजता सरकार ने आना था

फर्श पे नग्मे थे आक़ा की रिसालत के
अर्श पे चर्चे थे सरकार की अज़मत के
हूरों के लब पर खुशियों का तराना था
अर्श न क्यों सजता सरकार ने आना था

रूप बदल जाए ये रात संवर जाए
हुक्म खुदा का हुआ के वक़्त ठहर जाए
रुक गया फ़ौरन जो गर्दिश में ज़माना था
अर्श न क्यों सजता सरकार ने आना था

मस्जिदे अक़्सा में क्या मंज़र था प्यारे
बिच कतारों में हाज़िर थे नबी सारे
आगे मुसल्ले पर सुल्ताने ज़माना था
अर्श न क्यों सजता सरकार ने आना था

अर्श सजा सरकार के लिए, अर्श सजा सरकार के लिए
मंज़िले सिदरा पर जिब्रील ने अर्ज़ किया
शाहे दो आलम में आगे नहीं चल सकता
मेरी हद यही थी यही मेरा ठिकाना था
अर्श न क्यों सजता सरकार ने आना था

एक वसीला है रब्ब से मुलाकातों का
आप को हक़ ने दिया जो तोहफा नमाज़ों का
असल में उम्मत की बख्शीश का बहाना था
अर्श न क्यों सजता सरकार ने आना था

नूर में फारूकी ! दबा ये जहां होगा
वक़्त वो क्या होगा कैसा वो समां होगा
मसनदे अर्श पे जब हसनैन का नाना था
अर्श न क्यों सजता सरकार ने आना था


Comments

Post a Comment

Popular Naat Lyrics

Humne Aankhon se dekha nahi hai Magar || Lyrics || Wo Muhammad Madine mein Maujud hai || हमने आँखों से देखा नहीं है मगर || ENG HINDI URDU

Allah humma Sallay Ala Sayyidina Wa Maulana Muhammadin Lyrics || अल्लाहुम्म सल्ली अला सैय्यिदिना व मौलाना मुहम्मदिन || ENG HINDI URDU

Wo Jiske liye Mehfile Konain saji hai || Wo Mera Nabi hai Lyrics || वो जिसके लिए महफिले कोनैन सजी है || वो मेरा नबी है || وو جسکے لئے محفل کَونَیْن سجی ہے || Lyrics

Fazle Rabbe paak se beta mera dulha bana || Madani Sehra || Lyrics || फ़ज़्ले रब्बे पाक से बेटा मेरा दूल्हा बना || मदनी सेहरा || Haifz Tahir Qadri

Shahe Do Alam Salam Assalam || शाहे दो आलम सलाम अस्सलाम || Lyrics || Roman(Eng) & हिंदी (Hindi)

Tumne Shahe Jeelaan Muje Bagdaad bulaya Lyrics || तुमने शाहे जिलान मुझे बग़दाद बुलाया || Owais Raza Qadri

Bulalo Sarkar Tum Apne Dar Par || Salam Lyrics || बुलालो सरकार तुम अपने दर पर

Aye Khatme Rasool Makki Madani || अये खत्मे रसूल मक्की मदनी || Lyrics || Hafiz Uzair Akhtari

Madine ke Aaqa Salamun Alaik Lyrics || मदीने के आक़ा , सलामुन अलैक

Peerane peer mere shahe jilani Lyrics || पीराने पीर मेरे शाहे जिलानी

Facebook Page