Sarkar ka nokar hun koi aam nahi hoon Lyrics | सरकार का नौकर हूँ कोई आम नहीं हूँ | Hafiz Tahir Qadri


Roman(ENG):


Itna kaafi hai zindagi ke liye
Rakh le.n Sarkar jo noukari ke liye

Sarkar ka naukar hu.n koi aam nahi hu.n

Duniya ke kisi shobe mein nakam nahi hu.n
Sarkar ka naukar hu.n koi aam nahi hu.n

Mere nijaat ka yahi rasta dikhai de
Allah Mujko Makka Madina dikhai de
 
Roza-e-Mustafa hai jaha.n par aye momino.n
Aashiq wahi.n pe jita aur marta dikhai de

Sarkar ka naukar hu.n koi aam nahi hu.n

Duniya ke hukmarano.n se darta nahi.n kabhi
Dollar se ya riyal se bikta nahi.n kabhi
 
Jis zehn me.n samaya hai fakat Dast-e-Karbala
Momin wo sar katata hai jukta nahi.n kabhi

Sarkar ka naukar hu.n koi aam nahi hu.n

Aaqa ka faisala wahi qudrat ka faisala
Mehshar mein hoga unki shafa'at ka faisala
 
Keise bhala wo jaae jahannam ki aag me.n
Karle.n Huzoor jiski himayat ka faisala

Sarkar ka naukar hu.n koi aam nahi hu.n

Paabandi kya lagegi durood-o-salam par
Kyu.n dalte ho pehra ibadat ke kaam par
 
Batil ko keh do aashiqon ka imtihan le
Ham jaan denge apni Muhammad ke naam par

Sarkar ka naukar hu.n koi aam nahi hu.n

Iksi safi layi hui diwaar hai hum log
Sarkar ke aashiq he.n pur israr he.n hum log
 
Jo shaya kare.n khake wo jitne ho.n charlis
Un sab ko mitane ko hi tayyar he.n hum log

Sarkar ka naukar hu.n koi aam nahi hu.n

Behri sama-aton me.n wo sach ki azan hai
Aaqa Jawam-ul-qalam ki unchi shan hai
 
Allah ne huzoor ko wo lehja de diya
Ahle zaban jitne ye sab be zaban he.n

Sarkar ka naukar hu.n koi aam nahi hu.n

Engineer, wakil ya taajir ho doctor
Sab kuchh to ho magar tumhe.n itni bhi hai khabar
 
Haq Mustafa ka humpe Ujagar hai umar bhar
Zillat ka jina chhod ke izzat ki maut mar

Sarkar ka naukar hu.n koi aam nahi hu.n







हिंदी(HINDI):


इतना काफी है ज़िन्दगी के लिए
रख लें सरकार नौकरी के लिए

सरकार का नौकर हूँ कोई आम नहीं हूँ

दुनिया के किसी शोबे में नाकाम नहीं हूँ
सरकार का नौकर हूँ कोई आम नहीं हूँ

मेरी निजात का यही रस्ता दिखाई दे
अल्लाह मुझको मक्का मदीना दिखाई दे

रोज़ा-इ-मुस्तफा है जहाँ पर अये मोमिनों
आशिक़ वहीँ पे जीता और मरता दिखाई दे

सरकार का नौकर हूँ कोई आम नहीं हूँ

दुनिया के हुक्मरानों ने डरता नहीं कभी
डॉलर या रियाल से बिकता नहीं कभी

जिस ज़हन में समाया है फकत दस्ते कर्बला
मोमिन वो सर कटाता है जुकता नहीं कभी

सरकार का नौकर हूँ कोई आम नहीं हूँ

आक़ा का फैसला वही क़ुदरत का फैसला
महशर में होगा उनकी शफ़ाअत का फैसला

कैसे भला वो जाए जहन्नम की आग में
करलें हुज़ूर जिसकी हिमायत का फैसला

सरकार का नौकर हूँ कोई आम नहीं हूँ

पाबन्दी क्या लगेगी दुरूदो सलाम पर
क्यों डालते हो पहरा इबादत के नाम पर

बातिल को कह दो आशिक़ों का इम्तिहान ले
हम जान देंगे अपनी मुहम्मद के वास्ते

सरकार का नौकर हूँ कोई आम नहीं हूँ

इक्सी सफी लायी हुई दिवार हैं हम लोग
सरकार के आशिक़ हैं पुर इसरार हैं हम लोग

जो शाया करें खाके वो जितने हों चार्लिस
उन सब को मिटाने को ही तैयार हैं हम लोग

सरकार का नौकर हूँ कोई आम नहीं हूँ

बेहरी समाअतों में वो सच की अज़ान है
आक़ा जवामूल क़लम की ऊँची शान है

अल्लाह ने हुज़ूर को वो लहजा दे दिया
अहले ज़बान जितने ये सब बे ज़बान हैं

सरकार का नौकर हूँ कोई आम नहीं हूँ

इंजीनियर , वकील या ताजिर हो डॉक्टर
सब कुछ तो हो मगर तुम्हें इतनी भी है खबर

हक़ मुस्तफा का हम पे उजागर है उम्र भर
ज़िल्लत का जीना छोड़ के इज़्ज़त की मौत मर

सरकार का नौकर हूँ कोई आम नहीं हूँ



Comments

Popular Naat Lyrics

Humne Aankhon se dekha nahi hai Magar || Lyrics || Wo Muhammad Madine mein Maujud hai || हमने आँखों से देखा नहीं है मगर || ENG HINDI URDU

Wo Jiske liye Mehfile Konain saji hai || Wo Mera Nabi hai Lyrics || वो जिसके लिए महफिले कोनैन सजी है || वो मेरा नबी है || وو جسکے لئے محفل کَونَیْن سجی ہے || Lyrics

Fazle Rabbe paak se beta mera dulha bana || Madani Sehra || Lyrics || फ़ज़्ले रब्बे पाक से बेटा मेरा दूल्हा बना || मदनी सेहरा || Haifz Tahir Qadri

Allah humma Sallay Ala Sayyidina Wa Maulana Muhammadin Lyrics || अल्लाहुम्म सल्ली अला सैय्यिदिना व मौलाना मुहम्मदिन || ENG HINDI URDU

Shahe Do Alam Salam Assalam || शाहे दो आलम सलाम अस्सलाम || شاہِ دو عالم سلام اَلسَّلام || Lyrics || Roman(Eng) & हिंदी (Hindi)

Aye Khatme Rasool Makki Madani || अये खत्मे रसूल मक्की मदनी || Lyrics || Hafiz Uzair Akhtari

Madine ke Aaqa Salamun Alaik Lyrics || मदीने के आक़ा , सलामुन अलैक

Bulalo Sarkar Tum Apne Dar Par || Salam Lyrics || बुलालो सरकार तुम अपने दर पर

Apne Malik ka Main Naam lekar Lyrics || अपने मालिक का में नाम लेकर || Roman(Eng) & हिंदी(Hindi) & اردو(Urdu)

Bigdi ke banaane mein kyun dair lagi khwaaja Lyrics in roman(Eng) & Hindi(हिंदी)

Facebook Page