Sahara Chahiye Sarkar Zindagi ke Liye || Mere Aaqa Madine Bula Lijiye || सहारा चाहिए सरकार ज़िन्दगी के लिए || मेरे आक़ा मदीने बुला लीजिये || Lyrics || Hafiz Tahir Qadri


Roman(ENG):


Qismat Meri Chamka do Ya Shahe Madina
Bigdi Meri banaado Ya Shahe Madina

Mere Aaqa Madine Bula Lijiye
Mere Aaqa Madine Bula Lijiye

Sahara Chahiye Sarkar Zindagi ke Liye
Tadap raha hun Madine ki Hazri ke Liye

Tayba ke Jane wale Jaa kar Bade Adab se
Mera bhi Kissa-e-Gham Kehna Shahe Arab se

Kehna ke Shahe Aalam Ek Ranjo Gham ka Maara
Donon Jahan mein Jiska hein Aap hi Sahaara

Haalate Poor Alam se Is Dam Guzar raha hai
Aur Kampte Labon se Fariyad kar raha hai

Baare Gunaah Apna hai Dosh par Uthaye
Koi nahin hai Aisa Jo puchhne ko aaye

Bhula hua Musafir, Manzil ko dhundhta hai
Tarikiyon mein Maahe Kamil ko Dhundhta hai

Seene mein hai Andhera Dil hai Siyaah khana
Ye hai Meri Kahani Sarkar ko Sunana

Kehna Mere Nabi se Mehroom hun Khushi se
Sar par Ek Abre Gham hai Ashkon se Aankh nam hai

Pamale Zindagi hun Sarkar Ummati hun
Ummat ke Rehnuma ho Kuchh Arze Haal Sunlo

Fariyad kar raha hun Mein DilFigar kab se
Mera bhi Kissa e Gham Kehna Shahe Arab se

Huzur Aisa Koi Intezam ho jaaye
Salam ke Liye Hazir Gulam ho jaaye

Sahara Chahiye Sarkar Zindagi ke Liye
Tadap raha hun Madine ki Hazri ke Liye

Mera Dil Tadap raha hai Mera Jal raha hia Seena
Ke Dawa Wahin Milegi Mujhe le chalo Madina

Nahin Maalo Zar to kya hai Mein Gareeb hun yahi na
Mere Ishk Mujhko le chal Tu hi Jaanibe Madina

Aaqa na toot jaye Ye Dil ka Aabgeena
Ab ke Baras bhi Maula reh jaoon Mein kahin na

Dil ro raha hai Jinka Aansu Chhalak rahe hein
Un Aashikon ka Sadqa Bulwaeeye Madina

Mere Aaqa Madine Bula Lijiye
Mere Aaqa Madine Bula Lijiye

Madine Jaaun Fir Aaun Dubara Fir Jaaun
Ke Zindagi Meri Yunhi Tamam ho jaaye

Sahara Chahiye Sarkar Zindagi ke Liye
Tadap raha hun Madine ki Hazri ke Liye

Aye Aazime Madina Jaa kar Nabi se kehna
Soze Ghame Alam se Ab Jhal raha hai Seena

Kehna ke Bad rahi hai Ab Dil ki Iztirabi
Qadmon se Door hun Mein Qismat ki hai Kharabi

Kehna ke Dil mein Mere Armaan bhare huye hein
Kehna ke Hasraton ke Nashtar chubhe huye hein

Hai Aarzu Ye Dil ki Mein bhi Madine Jaaun
Sultane Do Jahan ko Daage Jigar dikhaun

Kaatun Hazar chakkar Tayba ki Har Gali ke
Yunhi Guzar dun Mein Ayyam Zindagi ke

Qadmon pe Jaan Nisarun Kaanton pe Dil Ko Waarun
Zarron ko dun Salami Dar ki karun Gulami

Diwaro Dar ko chumun Chokhat pe Sar ko rakh dun
Roze ko Dekh kar Mein rota rahun Barabar

Aalam ke Dil mein hai Ye Hasrat na Jaane kab se
Mera bhi Kissa-e-Gham Kehna Shahe Arab se

Sahara Chahiye Sarkar Zindagi ke Liye

Ya Mustafa Khudara do Izn Hazri ka
Karlun Nazara Aa kar Mein Aapki Gali ka

Ek Baar to dikhado Ramzan mein Madina
Beshak Banalo Aaqa Mehman Do Gadi ka

Naseeb Walon mein Mera bhi Naam ho jaaye
Jo Zindagi ki Madine mein Sham ho jaaye

Sahara Chahiye Sarkar Zindagi ke Liye
Tadap raha hun Madine ki Hazri ke Liye



हिंदी(HINDI):


क़िस्मत मेरी चमकादो या शहे मदीना
बिगड़ी मेरी बना दो या शहे मदीना

मेरे आक़ा मदीने बुला लीजिये
मेरे आक़ा मदीने बुला लीजिये

सहारा चाहिए सरकार ज़िन्दगी के लिए
तड़प रहा हूँ मदीने की हाज़री के लिए

तयबाह के जाने वाले, जा कर बड़े अदब से
मेरा भी किस्सा-इ-ग़म कहना शहे अरब से

कहना के शाहे आलम, एक रंजो ग़म का मारा
दोनों जहां में जिसका हैं आप ही सहारा

हालाते पुर अलम से इस दम गुज़र रहा है
और कांपते लबों से फरियाद कर रहा है

बारे गुनाह अपना है दोश पर उठाये
कोई नहीं है ऐसा जो पूछने को आये

भुला हुआ मुसाफिर, मंज़िल को ढूंढता है
तारीकियों में माहे कामिल को ढूंढता है

सीने में है अँधेरा, दिल है सियाह खाना
ये है मेरी कहानी सरकार को सुनाना

कहना मेरे नबी से, महरूम हूँ ख़ुशी से
सर पर एक अब्रे ग़म है, अश्कों से आँख नम है 

पामाले ज़िन्दगी हूँ, सरकार उम्मती हूँ
उम्मत के रहनुमा हो, कुछ अर्ज़े हाल सुन लो

फरियाद कर रहा हूँ, में दिल फ़िगार कब से
मेरा भी किस्सा-इ-ग़म कहना शहे अरब से

हुज़ूर ऐसा कोई इंतेज़ाम हो जाए
सलाम के लिए हाज़िर गुलाम हो जाए

सहारा चाहिए सरकार ज़िन्दगी के लिए
तड़प रहा हूँ मदीने की हाज़री के लिए

मेरा दिल तड़प रहा है, मेरा जल रहा है सीना
के दवा वहीँ मिलेगी, मुझे ले चलो मदीना

नहीं मालो ज़र तो क्या है, में गरीब हूँ यही ना
मेरे इश्क़ मुझको ले चल, तू ही जानिबे मदीना

आक़ा न टूट जाए ये दिल का आबगीना
अब के बरस भी मौला रह जाऊं में कहीं ना

दिल रो रहा है जिनका, आंसू छलक रहे हैं
उन आशिकों का सदक़ा बुलवाइए मदीना

मेरे आक़ा मदीने बुला लीजिये
मेरे आक़ा मदीने बुला लीजिये

मदीने जाऊं, फिर आऊं, दुबारा फिर जाऊं
के ज़िन्दगी मेरी यूँही तमाम हो जाए

सहारा चाहिए सरकार ज़िन्दगी के लिए
तड़प रहा हूँ मदीने की हाज़री के लिए

अये आजिमे मदीना जा कर नबी से कहना
सोजे ग़मे अलम से अब जल रहा है सीना

कहना के बड़ रही है अब दिल की इज़्तिराबी
क़दमों से दूर हूँ में, क़िस्मत की खराबी

कहना के दिल में मेरे अरमान भरे हुए हैं
कहना के हसरतों के नस्तर चुभे हुए हैं

है आरज़ू ये दिल की में भी मदीने जाऊं
सुल्ताने दो जहां को दागे जिगर दिखाऊं

काटूं हज़ार चक्कर, तयबाह की हर गली के
यूँही गुज़ार दूँ में अय्याम ज़िन्दगी के

क़दमों पे जां-निसारुं, काँटों पे दिल को वारुं
ज़र्रों को दूँ सलामी, दर की करूँ गुलामी

दीवारो दर को चूमूँ, चौखट पर सर को रख दूँ
रोज़े को देख कर में, रोता रहूं बराबर

आलम के दिल में है ये हसरत न जाने कब से
मेरा भी किस्सा-इ-ग़म कहना शहे अरब से

सहारा चाहिए सरकार ज़िन्दगी के लिए

या मुस्तफा खुदारा, दो इज़्न हाज़री का
करलूं नज़ारा आ कर में आपकी गली का

एक बार तो दिखा दो, रमजान में मदीना
बेशक बनालो आक़ा, मेहमान दो गड़ी का 

नसीब वालों में मेरा भी नाम हो जाए
जो ज़िन्दगी की मदीने में शाम हो जाए

सहारा चाहिए सरकार ज़िन्दगी के लिए
तड़प रहा हूँ मदीने की हाज़री के लिए


Naat Khwan : 

Hafiz Tahir Qadri

Comments

Popular Naat Lyrics

Humne Aankhon se dekha nahi hai Magar || Lyrics || Wo Muhammad Madine mein Maujud hai || हमने आँखों से देखा नहीं है मगर || ENG HINDI URDU

Allah humma Sallay Ala Sayyidina Wa Maulana Muhammadin Lyrics || अल्लाहुम्म सल्ली अला सैय्यिदिना व मौलाना मुहम्मदिन || ENG HINDI URDU

Fazle Rabbe paak se beta mera dulha bana || Madani Sehra || Lyrics || फ़ज़्ले रब्बे पाक से बेटा मेरा दूल्हा बना || मदनी सेहरा || Haifz Tahir Qadri

Wo Jiske liye Mehfile Konain saji hai || Wo Mera Nabi hai Lyrics || वो जिसके लिए महफिले कोनैन सजी है || वो मेरा नबी है || وو جسکے لئے محفل کَونَیْن سجی ہے || Lyrics

Shahe Do Alam Salam Assalam || शाहे दो आलम सलाम अस्सलाम || شاہِ دو عالم سلام اَلسَّلام || Lyrics || Roman(Eng) & हिंदी (Hindi)

Bulalo Sarkar Tum Apne Dar Par || Salam Lyrics || बुलालो सरकार तुम अपने दर पर

Tumne Shahe Jeelaan Muje Bagdaad bulaya Lyrics || तुमने शाहे जिलान मुझे बग़दाद बुलाया || Owais Raza Qadri

Madine ke Aaqa Salamun Alaik Lyrics || मदीने के आक़ा , सलामुन अलैक

Aye Khatme Rasool Makki Madani || अये खत्मे रसूल मक्की मदनी || Lyrics || Hafiz Uzair Akhtari

Apne Malik ka Main Naam lekar Lyrics || अपने मालिक का में नाम लेकर || Roman(Eng) & हिंदी(Hindi) & اردو(Urdu)

Facebook Page