Noor Wala Aaya Hai Jashn Manao Milke Lyrics || Hafiz Tahir Qadri || Roman(ENG) & हिंदी(HINDI)


Roman(Eng):


Sahar ka waqt tha masoom kaliyan muskurati thin
Hawaaeinn khair Maqdam ke Taraane Gun-Gunati thi'n
Abhi Jibreel Utre Bhi Na The Kaabe ke Mimbar se
Ke Itne Mein Sada Aayi Abdullah ke Ghar se

Mubarak Ho Mubarak Ho Mubarak Ho Mubarak Ho

Mubarak Ho Shahe Har DoSara Tashreef ley Aaye
Mubarak Ho Muhammad Mustafa Tashreef ley Aaye

Noor Wala Aaya Hai Jashn Manao Milke
Noor Wala Aaya Hai Jashn Manao Milke

Assalam Aye Jaane Aalam Assalam Imaan-e-Alam
Shaahe Deen Sultane Aalam Salawa-Tullahi Alayk

Waali-e-Makkah Waali-e-Taybaah Aur Duniya ke Waali
Aamena Bi ke Ghar Aaye hein Mehki Daali Daali
Saare Nabi Ye Kehte hein Chalo Jashn Manaao Milke

Jande Lagaao Sab Galiyan Sajaao Sarkaar ke Naare Lagaao
Hai Jashne Nabi Ronak hai Lagi Dil Jaan se Saare Gao
Ham Milaad Wale hein , Ham Milaad Wale hein

Zabaan Par "Ashraqal-Badru-Alayna" Ki Sadaaein Thin
Dilon mein "Mada'aa Lillah Daee" Ki Duaein Thin
Woh Nanhin Bacchiyan chhaton par chadh kar daff bajaati Thin
Rasoole Paak ki janib Ishaare kar ke gaati Thi'n

"Tala-al Badru Alayna Min Sani Yatil Wadaa"
"Wajaba-Shukru Alayna Mada'aa Lillahi Daee"

Ke Ham hein Bacchiyaan Najjar ke Aali Gharaane ki
Khushi hai Aamena ke laal ke Tashrif laane ki

Welcome Welcome Ya Mustafa
Welcome Welcome Ya Mustafa
Welcome Welcome Ya Mustafa

Ye Kehti thi Ghar Ghar mein ja kar Halima
Mere Ghar mein KhairulWara aa gaye hein
Bade Auj par hai Mera ab Muqaddar
Mere Ghar Habeeb-e-Khuda Aa gaye hein

Ya Mustafa Ya Mujtaba Salle-Ala Salle-Ala
Ya Mustafa Ya Mujtaba Salle-Ala Salle-Ala

Ye kis Shahensha-e-Wala ki Amad Amad hey
Ye Kaunse Shahe-Bala ki Amad Amad hey

Bolo Marhaba Bolo Marhaba
Bolo Marhaba Bolo Marhaba

Rusool Inhin ka to Mujda Sunane Aaye hein
Inhin ke Aane ki Khushiyaan Manaane Aaye hein
Firishte Aaj jo Dhoomein Machaane Aaye hein
Inhin ke Aane ki Khusiyaan Manaane Aaye hein

Bolo Marhaba Bolo Marhaba
Bolo Marhaba Bolo Marhaba

Inhein Khuda ne kiya Apne Mulq ka Malik
Inhin ke Kabze mein Rabb ke Khazane Aaye hein
Jo Chaaheinge Jise Chaaheinge Ye Use Denge
Kareem hein ye Khazaane Lutaane Aaye hein

Bolo Marhaba Bolo Marhaba
Bolo Marhaba Bolo Marhaba

Sarkaar Ki Aamad .... Marhaba
Dildaar Ki Aamad .... Marhaba
Aaqa Ki Aamad .... Marhaba
Data Ki Aamad .... Marhaba
Huzur ki Aamad .... Marhaba
Purnoor Ki Aamad .... Marhaba
Sab Joom ke bolo .... Marhaba
Sab Mil kar Bolo .... Marhaba

Dhoom Machaado Dhoom Machaado
Dhoom Machaado Dhoom Machaado

Noor Wala Aaya Hai Jashn Manao Milke
Noor Wala Aaya Hai Jashn Manao Milke

Noor se Apne Sarware Aalam Duniya Jagmagaane Aaye
Gam ke Maaron Dukhiyaaron ko Seene Se lagaane Aaye

Ashkon se Bhar kar Joliyaan,  Aankhein Bichhaado Raah mein
Salle-Ala ki do Sadaa Mere Huzur Aa Gaye

Marhaba Rasulallah Marhaba Rasulallah
Marhaba Rasulallah Marhaba Rasulallah

Noor Wala Aaya Hai Jashn Manao Milkey
Noor Wala Aaya Hai Jashn Manao Milkey

Aamena Bibi ke gulshan mein aayi hai Taaza bahaar
Padte hein Sallalallahu Wasallam Aaj Daro Deewaar
Jibreel Aaye Jula Julaane Lori de zeeshan
Soja Soja Rehmate Aalam Nabiyon ke Sultaan

Assalam Aye Jaane Aalam Assalam Imaan-e-Aalam
Shahe Deen Sultaane Aalam Salawa-Tullahi Alayk
Ham Milaad Wale hein Ham Milaad Wale hein

Nabiyon ke Sultaan Aaqa Nabiyon ke Sultaan
Khalish Muzaffar wo Karte hein Har Mushkil Aasan
Apne Apne Man ki bipta Unko Sunaao Milke

Ya Mustafa Ya Mujtaba Salle-Ala Salle-Ala
Ya Mustafa Ya Mujtaba Salle-Ala Salle-Ala

"Tala-al Badru Alayna Min Sani Yatil Wadaa"
"Wajaba-Shukru Alayna Mada'a Lillahi Daee"




हिंदी(HINDI):


सहर का वक़्त था मासूम कलियाँ मुस्कुराती थीं
हवाएं खैर-मकदम के तराने गुनगुनाती थीं
अभी जिब्रील उतरे भी न थे काबे के मिम्बर से
के इतने में सदा आयी ये अब्दुल्लाह के घर से

मुबारक हो मुबारक हो मुबारक हो मुबारक हो

मुबारक हो शहे हर दोसरा तशरीफ़ ले आये
मुबारक हो मुहम्मद मुस्तफा तशरीफ़ ले आये

नूर वाला आया है जश्न मनाओ मिलके
नूर वाला आया है जश्न मनाओ मिलके

अस्सलाम अये जाने आलम , अस्सलाम इमाने आलम
शाहे दीं सुल्ताने आलम, सलवा तुल्लाही अलैक

वाली-इ-मक्का वाली-इ-तयबाह और दुनिया के वाली
आमेना बी के घर आये हैं महकी डाली डाली
सारे नबी ये कहते हैं चलो जश्न मनाओ मिलके

जंडे लगाओ , सब गलियां सजाओ, सरकार के नारे लगाओ
है जश्ने नबी, रौनक है लगी, दिलो जान से सारे गाओ
हम मिलाद वाले हैं, हम मिलाद वाले हैं

ज़बां पर "अशरकल-बदरु-अलैना" की सदाएं थीं
दिलों में "मद-आ लिल्लाहि दाई" की दुआएं थीं
वो नन्हीं बच्चियां छतों पर चड कर डफ्फ बजातीं थीं
रसूले पाक की जानिब इशारे कर के गातीं थीं

"तला-अल बदरू अलैना , मिन सनी यातील वदा"
"वजबा-शुक्रू अलैना , मद-आ लिल्लाहि दाई "

के हम हैं बच्चियां नज्जार के आली घराने की
ख़ुशी है आमेना के लाल के तशरीफ़ लाने की

वेलकम वेलकम या मुस्तफा
वेलकम वेलकम या मुस्तफा
वेलकम वेलकम या मुस्तफा

ये कहती थी घर घर में जा कर हलीमा
मेरे घर में खैरुल वरा आ गए हैं
बड़े औज पर है मेरा अब मुक़द्दर
मेरे घर हबीबे खुदा आ गए हैं

या मुस्तफा या मुज्तबा सल्ले अला सल्ले अला
या मुस्तफा या मुज्तबा सल्ले अला सल्ले अला

ये किस शहंशाह-इ-वाला की आमद आमद है
ये कौनसे शहे बाला की आमद आमद है

बोलो मरहबा बोलो मरहबा
बोलो मरहबा बोलो मरहबा

रुसूल उन्हीं का तो मुज़्दा सुनाने आये हैं
उन्हीं के आने की खुशियां मानाने आये हैं
फिरिशते आज जो धूमें मचाने आये हैं
इन्हीं के आने की खुशियां मानाने आये हैं

बोलो मरहबा बोलो मरहबा
बोलो मरहबा बोलो मरहबा

इन्हें खुदा ने किया अपने मुल्क़ का मालिक
इन्हीं के कब्ज़े में रब्ब के ख़ज़ाने आये हैं
जो चाहेंगे जिसे चाहेंगे ये उसे देंगे
करीम हैं ये ख़ज़ाने लुटाने आये हैं

बोलो मरहबा बोलो मरहबा
बोलो मरहबा बोलो मरहबा

सरकार की आमद - मरहबा
दिलदार की आमद - मरहबा
आक़ा की आमद - मरहबा
दाता की आमद - मरहबा
हुज़ूर की आमद - मरहबा
पुरनूर की आमद - मरहबा
सब ज़ूम के बोलो - मरहबा
सब मिल कर बोलो - मरहबा

धूम मचादो धूम मचादो
धूम मचादो धूम मचादो

नूर वाला आया है जश्न मनाओ मिलके
नूर वाला आया है जश्न मनाओ मिलके

नूर से अपने सरवरे आलम , दुनिया जगमगाने आये
गम के मारों दुखियारों को , सीने से लगाने आये

अश्कों से भर कर जोलियाँ, आँखें बिछा दो राह में
सल्ले अला की दो सदा , मेरे हुज़ूर आ गए

मरहबा रसूलल्लाह मरहबा रसूलल्लाह
मरहबा रसूलल्लाह मरहबा रसूलल्लाह

नूर वाला आया है जश्न मनाओ मिलके
नूर वाला आया है जश्न मनाओ मिलके

आमेना बीबी के गुलशन में आयी है ताजा बहार
पड़ते हैं सल्ललल्लाहु वसल्लम आज दरो दीवार
जिब्रील आये जुला जलाने लोरी दे ज़ीशान
सोजा सोजा रेहमते आलम , नबियों के सुलतान

अस्सलाम अये जाने आलम, अस्सलाम इमाने आलम
शाहे दीं सुल्ताने आलम सलवा तुल्लहि अलैक
हम मिलाद वाले हैं हम मिलाद वाले हैं

नबियों के सुलतान आक़ा नबियों के सुलतान
खलिश मुज़फ्फर वो करते हैं हर मुश्किल आसान
अपने अपने मन की बिपता उनको सुनाओ मिलके

या मुस्तफा या मुस्तफा सल्ले अला सल्ले अला
या मुस्तफा या मुस्तफा सल्ले अला सल्ले अला

"तला-अल बदरू अलैना , मिन सनी यातील वदा"
"वजबा-शुक्रू अलैना , मद-आ लिल्लाहि दाई "

 

 

Naat Khwan : 

Hafiz Tahir Qadri

Comments

Post a Comment

Popular Naat Lyrics

Humne Aankhon se dekha nahi hai Magar || Lyrics || Wo Muhammad Madine mein Maujud hai || हमने आँखों से देखा नहीं है मगर || ENG HINDI URDU

Allah humma Sallay Ala Sayyidina Wa Maulana Muhammadin Lyrics || अल्लाहुम्म सल्ली अला सैय्यिदिना व मौलाना मुहम्मदिन

Wo Jiske liye Mehfile Konain saji hai || Wo Mera Nabi hai Lyrics || वो जिसके लिए महफिले कोनैन सजी है || वो मेरा नबी है || وو جسکے لئے محفل کَونَیْن سجی ہے || Lyrics

Fazle Rabbe paak se beta mera dulha bana || Madani Sehra || Lyrics || फ़ज़्ले रब्बे पाक से बेटा मेरा दूल्हा बना || मदनी सेहरा || Haifz Tahir Qadri

Shahe Do Alam Salam Assalam || शाहे दो आलम सलाम अस्सलाम || Lyrics || Roman(Eng) & हिंदी (Hindi)

Tumne Shahe Jeelaan Muje Bagdaad bulaya Lyrics || तुमने शाहे जिलान मुझे बग़दाद बुलाया || Owais Raza Qadri

Bulalo Sarkar Tum Apne Dar Par || Salam Lyrics || बुलालो सरकार तुम अपने दर पर

Aye Khatme Rasool Makki Madani || अये खत्मे रसूल मक्की मदनी || Lyrics || Hafiz Uzair Akhtari

Madine ke Aaqa Salamun Alaik Lyrics || मदीने के आक़ा , सलामुन अलैक

Peerane peer mere shahe jilani Lyrics || पीराने पीर मेरे शाहे जिलानी

Facebook Page